आज का पंचांग - 05 March, 2020

पंचाग का पठन एवं श्रवण अति शुभ माना जाता है इसीलिए भगवान श्रीराम भी पंचांग का श्रवण करते थे। पंचांग को नित्य पढ़ने/सुनने से देवताओं की कृपा, कुंडली के ग्रहो के शुभ फल मिलते है। इसलिए हर मनुष्य को जीवन में शुभ फलो की प्राप्ति के लिए नित्य पंचांग को देखना पढ़ना चाहिए।


sunrise
सूर्योदय:06:49
sunset
सूर्यास्त:18:21
moonrise
चन्द्रोदय:09:30
moonset
चन्द्रास्त:22:25
पक्ष:शुक्ल पक्ष
तिथि: पञ्चमी - पूर्ण रात्रि
सूर्य राशि: कुम्भ
चंद्र राशि: मेष
अभिजीतमुहूर्त : 12:12 - 12:58
नक्षत्र : अश्विनी - 04:03
द्रिक अयन: उत्तरायण
द्रिक ऋतु: वसन्त
वैदिक अयन: उत्तरायण
वैदिक ऋतु: शिशिर
विक्रम सम्वत: 2076 परिधावी
शक सम्वत: 1941 विकारी
राहुकाल : 11:08 - 12:35{नोट:- राहुकाल में कोई भी काम करना वर्जित होता है।}
माह : फाल्गुन

100% Genuine Products & Services

Trusted by million of users

100% Secure Payment (https)

Call:+91-8929061622

What Clients Are Saying